अब मोदी सरकार ऐसे पकड़ेगी बेनामी संपत्ति, ब्लैक मनी और टैक्स चोरी, 1 करोड़ रु. जीतने के लिए किसे और कैसे देना होगी जानकारी

मोदी गवर्नमेंट ने बेनामी प्रॉपर्टी, इनकम टैक्स चोरी और काले धन की जानकारी देने वालों के लिए बेनामी ट्रांजेक्शंस इनफॉर्मेंट्स रिवॉर्ड स्कीम लॉन्च की है। मोदी सरकार की नई रिवार्ड स्कीम को लेकर काफी कन्फ्यूजन है। सरकार ने एलान किया है कि विदेशों में कालेधन की जानकारी देने पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट 5 करोड़ रु तक इनाम देगा। वहीं, बेनामी लेन-देन और संपत्ति की जानकारी देने पर एक करोड़ तक का रिवॉर्ड मिलेगा। इनाम की राशि सीबीडीटी की नई बेनामी ट्रांजेक्शंस इनफॉर्मेंट्स रिवॉर्ड स्कीम 2018 और इनकम टैक्स इंफॉर्मेंट्स रिवार्ड स्कीम के तहत मिलेगी।

mod

रिवार्ड स्कीम:

बेनामी इनकम या संपत्ति के केस में इंटरिम अवार्ड 1% तक (अधिकतम 10 लाख रु) होगी, 1 करोड़ से ज्यादा की बेनामी इनकम या संपत्ति होने पर ये रकम 1% तक (अधिकतम 15 लाख रु) होगा, विदेशी काले धन को लेकर 3% तक (अधिकतम 50 लाख) मिलेगा।

This slideshow requires JavaScript.

अब इन रिवार्ड स्कीम को लेकर लोगों के मन में कई सवाल उठ रहे हैं कि आखिर वो 5 करोड़ रु तक का इनाम कैसे पा सकते हैं? क्या-क्या जानकारी देनी होगी। इनाम का पैसा कितने दिनों में मिल जाएगा आदि। प्रिसिंपल डायरेक्ट (इन्वेस्टिगेशन) ही इनाम पाने की प्रॉसेस में पहली सीढ़ी हैं। हम बता रहे हैं आपको यह जानकारी किसको देना होगी और आप कैसे यह इनाम जीत सकते हैं।

क्या है स्कीम ?
सरकार 2 स्कीम लाई है। बेनामी ट्रांजेक्शंस इनफॉर्मेंट्स रिवार्ड स्कीम और इनकम टैक्स इनफॉर्मेंट्स रिवार्ड स्कीम। इसमें कालेधन, इनकम टैक्स चोरी और बेनामी संपत्ति वालों की जानकारी देने पर कैश रिवार्ड मिलेगा।

स्कीम में कितने रु तक रिवार्ड मिलेगा?
विदेश में कालेधन की सूचना देने पर 5 करोड़ रुपए तक। बेनामी लेन-देन और संपत्ति बताने पर 1 करोड़। वहीं, इनकम टैक्स चोरी की पुख्ता खबर पर 50 लाख रु।

बेनामी संपत्ति और ब्लैक मनी स्कीम में किसे माना जाएगा?
बेनामी संपत्ति : जो सरकार से छिपाने के लिए नौकर, ड्राइवर या दूसरे कर्मचारियों के नाम खरीदी गई हो। लेकिन बेनिफिट उसका मालिक ले रहा हो।
ब्लैक मनी :कमाई गई जिस रकम का कोई लेखा-जोखा ना हो। इसे बेनामी इनकम भी कहा जाता है।

इनाम पाने के लिए मुझे क्या जानकारी देनी होगा?

आपको बेनामी संपत्ति धारक या इनकम टैक्स चोरी करने वाले या काला धन रखने वाले से जुड़ी जानकारी संबंधित कागजात के साथ देनी होगी। ये जानकारी इनकम टैक्स साइट पर दिए 4 पन्ने के फॉर्म में भरनी होगी। फॉर्म IT ऑफिस से भी ले सकते हैं। अपना आधार कार्ड और पसर्नल अकाउंट नंबर भी मेंशन करना होगा। इसी अकाउंट में रिवार्ड मनी क्रेडिट होगी। ध्यान रहे बेनामी ट्रांजेक्शन-काले धन और इनकम टैक्स चोरी की जानकारी दोनों के केस में अलग-अलग फॉर्म भरने होंगे। बेनामी संपत्ति-कालेधन की जानकारी देने से जुड़े 4 पन्ने के फॉर्म के लिए क्लिक करें। इनकम टैक्स चोरी की जानकारी देने से जुड़े 4 पन्ने के फॉर्म के लिए क्लिक करें।

फॉर्म भरकर कहां जमा करना होगा?

इसके लिए भी इनकम टैक्स ने अपनी साइट पर शहर के हिसाब से लिस्ट अपलोड की है। आप इस फॉर्म को अपने शहर के इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में डायरेक्टर जनरल (इन्वेस्टिगेशन) या प्रिसिंपल डायरेक्टर (इन्वेस्टिगेशन) या ज्वाइंट कमिश्नर या असिस्टेंट कमिश्नर को जमा कर सकते हैं। ईमेल, डाक और बाय हैंड के जरिए ही फॉर्म एक्सेप्ट होगा।

कौन-कौन इस स्कीम के लिए योग्य?
सरकारी कर्मचारी को छोड़कर देश या विदेश में बैठा कोई भी इस स्कीम के तहत जानकारी दे सकता है। उम्र की भी कोई पाबंदी नहीं है।

विदेश में बैठा शख्स कैसे इंफॉर्मेशन दे?
तय फॉर्म भरकर पोस्ट या ईमेल के जरिए। पोस्टल एड्रेस है Member , CBDT, North Block, New Delhi-110001। Email- member.inv@incometax.gov.in

जानकारी देने के बाद इनाम का पैसा कैसे मिलेगा?
इनाम दो पार्ट में मिलेगा : इंटरिम और फाइनल रिवार्ड।

इंटरिम अवार्ड कब और कितना मिलेगा।
प्राइमरी जांच में सूचना सही पाई जाने पर 4 महीने के अंदर मिलेगा। इन 3 कंडीशन में ये रकम अलग-अलग होगी

Input from Bhaskar

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s